Sun. Feb 23rd, 2020

डाक टाइम्स न्यूज़

सच का साथी – DakTimesNews.Com

नागरिकता संशोधन बिल के विरोध में रायबरेली बना शाहीन बाग,24 घण्टे से प्रदर्शन

1 min read


https://www.ispeech.org/text.to.speech
सन्दीप मिश्रा

रायबरेली। नागरिकता संशोधन कानून को लेकर शाहीन बाग की आग अब रायबरेली जनपद में भी पहुंच गई है । बीते 24 घंटे से कहारों का अड्डा के टाउन हाल में महिलाओं ने अपना प्रदर्शन जारी कर रखा है। इस दौरान महिलाओं ने बिल का पुरजोर विरोध किया और कहा कि जब तक सरकार बिल वापस नहीं लेती है उनका यह प्रदर्शन जारी रहेगा । इस दौरान महिलाओं ने यह भी कहा कि पुलिस ने रात में अपनी बर्बरता भी दिखाई । साथ ही साथ एक दर्जन महिलाओं को धरना स्थल से अलग ले जाकर बैठा दिया गया है और उनसे मिलने किसी को नहीं दिया जा रहा है। इस दौरान महिलाओं ने उस सवाल पर भी करारा प्रहार किया जो प्रदर्शन कर रही महिलाओं से पूछा जा रहा है कि उन्हें इस कानून के बारे में कुछ जानकारी ही नहीं है। उन्होंने साफ कहा कि वह घरों में भले ही रहती हैं पर अनपढ़ नहीं है। प्रदर्शन में महिलाएं बच्चों को भी गोद में लिए बैठी दिखाई दी और कहा कि इन बच्चों का भविष्य बनाने के लिए ही उन्हें घरों से बाहर आना पड़ा है। मुस्लिम महिलाओं का कहना है कि देश की आजादी में सभी लोगों ने अपना खून बहाया था और हिंदू मुस्लिम सिख ईसाई आपस में सब भाई भाई के सिद्धांत पर आज हिंदुस्तान की संस्कृति पूरे विश्व में जानी पहचानी जाती है। जिसे मिटाने का प्रयास इस बिल के द्वारा किया जा रहा है । उन्होंने साफ कहा कि अगर इस बिल से किसी को कोई नुकसान नहीं है तो क्यों नहीं सरकार जनता के सामने जाकर उन्हें इस बिल के बारे में समझा रही है । महिलाओं ने यह भी कहा कि इस बिल के तहत आप मुस्लिम समुदाय को छोड़कर बाकी अन्य जातियों को तो वापस नागरिकता देने की बात कह रहे हैं । परंतु मुस्लिम समुदाय जो इस बिल के तहत रजिस्टर नहीं हो पाएगा वह किस देश में जाएगा । उसके लिए उन्होंने क्या प्रावधान का रखा है। इसके बारे में भी बताएंगे। कहने को तो रायबरेली जनपद जल्द किसी जाति धर्म के मामले में अपनी दखलंदाजी नहीं दर्ज कराता है। लोग कहते भी हैं कि राष्ट्रवादी मुद्दों में रायबरेली जनपद के लोग उन्हीं बातों का समर्थन करते हैं जिससे पूरा देश खुशहाल नजर आता हो। परंतु सालों बाद ऐसा देखने को मिला है कि रायबरेली की जनता ने सड़कों पर उतर कर खुद मोर्चा संभाला हो और उसकी भागीदारी महिलाएं आगे बढ़ कर कर रही हो । इस दौरान तमाम ऐसी महिलाएं भी मिली जो पहली बार किसी धरना प्रदर्शन में अपनी भागीदारी तय कर रही थी । उनका साफ कहना था कि हम लोगों ने सरकार की हर बात का समर्थन किया क्योंकि वह देश हित में था । लेकिन यह बिल देश को तोड़ने वाला है जिसका हम भरपूर विरोध करेंगे । एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि यह देश किसी के बाप की बपौती नहीं है जो हम लोगों से काग जात मांगेगा। बल्कि हम लोगों के पुरखों ने इस देश को बनाने में अपना खून पसीना बहाया है। इसलिए हम सब हिंदुस्तानी हैं, और हिंदुस्तान ही हमारा देश है।

Spread The Love :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social menu is not set. You need to create menu and assign it to Social Menu on Menu Settings.

नवीनतम समाचार

Copyright © 2017-2020 All rights reserved. | Design & Developed By- SoftMaji