विसर्जन रात 8:00 बजे तक चला 150, मूर्तियों का विसर्जन कराने के बाद प्रशासनिक अधिकारियों ने चैन की सांस ली

सन्दीप मिश्रा
ब्यूरो

रायबरेली। 9 दिन देवी प्रतिमा को पूजा करने के बाद भक्तों ने नम आंखों से देवी प्रतिमा का विसर्जन किया राजघाट की सई नदी के किनारे क्रमिक तरीके से बनाये गये गड्ढों में विसर्जन की परंपरा पूरी हूं। पूरे शहर में स्थापित डेढ़ सौ से अधिक नवदुर्गा की प्रतिमाओं को प्रशासनिक निगरानी में विदाई दी गई।एसडीएम सदर प्रशांत त्रिपाठी और सीओ सिटी गोपीनाथ सोनी पुलिस बल के साथ नदी किनारे मौजूद रहे। दोनों अधिकारी विसर्जन में आए भक्तों से माइक से माध्यम से व्यवस्थाओं को बनाए रखने की अपील करते रहे। नगर पालिका के द्वारा नदी के किनारे खोदे गड्ढों में एक प्रतिमाओ को विसर्जित किया गया। किसी प्रकार की कोई अनहोनी ना हो इसके लिए गोताखोरोे साथ नौवे भी लगाई गई।
अखिल भारतीय उद्योग व्यापार मंडल अध्यक्ष अतुल गुप्ता ने भी ऐसा प्रशासन सहयोग किया ।घाट के किनारे लोगों के बैठने की व्यवस्था की गई थी प्रशासन ने पूरी मुस्तेद दिखाई की यातायात भी कोई अव्यवस्था फैले इसके लिए पुलिस विभाग की गाड़ियां लगातार पेट्रोलिंग करती हुई दिखाई।
जयकारो के गूंज के साथ भक्त देवी को विदा किया।

Spread The Love :

Related posts

Leave a Comment