समाज को एक सन्देश देकर धू- धू् कर जला बुराई का प्रतीक रावण

सन्दीप मिश्रा

ब्यूरो

रायबरेली। दशहरे के मेले में रावण को जलाने के लिए राम की सेना जय श्री राम के नारे लगाते हुए रावण की ओर बढ़ने लगी रावण के मस्से जय श्री राम सेना रब खुदा मैदान गूंज पड़ा।
लगभग 100 वर्षों से सूरजपुर मैदान में दशहरे के मेले का आयोजन किया जाता है यह मैदान बुराई के चलने का प्रतीक है।
खाली साहब रामलीला कमेटी ने रावण के वध के लिए अपनी की टीम को सूरजपुर और मैदान में भेजा। दसहरा मेले में लगी दुकान आकर्षण का केंद्र रही। मेले को देखने का मजा ही कुछ और है सभी अपने-अपने मतलब का सामान खरीद रहे थे बच्चे खिलौने और खाने पीने का सामान ले रहे थे तो बड़े अपने मतलब का सामान खरीद रहे थे।
महिलाओं का पूरा आकर्षण गृहस्ती और मेकअप के ऊपर रहा चूड़ी और कॉस्मेटिक की दुकान पर महिलाओं की भीड़ देखने को मिली चार्ट पकोड़े के साथ झूलों में झूलने का मजा ही कुछ और रहा।
मेले में किसी प्रकार की कोई अव्यवस्था ना हो इसके लिए प्रशासन मुस्तैद रहा अराजक तत्वों से निपटने के लिए महिला पुलिस बल भी तैनात रही एडिशनल एसपी खुद मेले में नजर रखे हुए थे।

Spread The Love :

Related posts

Leave a Comment