Thu. Jul 16th, 2020

डाक टाइम्स न्यूज़

सच का साथी – DakTimesNews.Com

रायबरेली में एक संत ने गंगा नदी के जीवों के लिये किया 51 कुन्तल अन्न दान

1 min read


Powered by iSpeech
 

सन्दीप मिश्र
ब्यूरो

रायबरेली में एक संत ने पर्यावरण को बचाने और गंगा की रक्षा के लिए गंगा नदी में 51 कुंतल चावल का अक्षत छोड़कर जल जीवो को बचाने के लिए एक अनोखी मिसाल पेश की ,दरअसल रायबरेली के गेगासो गंगा तट पर पूरे सावन मास बाबा मुंडमालेस्वर में एक विशाल पूजन का आयोजन किया गया जिसमें रात दिन शिव के मंत्रोच्चार के साथ चावल अक्षत चढ़ाया गया जोकि सवा कुंतल चढ़ाया गया पूजन समाप्त होने के बाद कुछ चावल का अक्षत गौशालाओं में गायों को खाने के लिए भेजा गया और बाकी का अक्षत गंगा नदी में छोड़ा गया गंगा नदी में चावल के अक्षत छोड़ने का कार्यक्रम मंत्रोचार के साथ करीब 5 घंटे तक चला जिसमें 51 कुंतल चावल को गंगा नदी में मौजूद मछली और कछुआ को खाने के लिए छोड़ा गया संत उमेश चैतन्य की माने तो पर्यावरण को बचाने के लिए और देश की रक्षा व गंगा की रक्षा का संकल्प लेकर 1 माह तक गंगा तट पर स्थित बाबा मुण्डमालेस्वर का पूजन किया गया उस दौरान जो चावल का अक्षत चढ़ाया गया उसमें से कुछ गौशालाओं में गायों को खिलाने के लिए भेजा गया और बाकी का बचा करीब 51 कुंतल चावल अक्षत गंगा नदी में मंत्रोचार के साथ छोड़ा गया है जिससे गंगा नदी में पल रहे कछुआ और मछली साथ ही अन्य जल जीव सुरक्षित रह सकें जिससे मां गंगा को साफ रखने और पर्यावरण को सुरक्षित रखा जा सके क्यो की जल जीव माँ गंगा को साफ रखंने मे अहम भूमिका निभाते है ।

Spread The Love :

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social menu is not set. You need to create menu and assign it to Social Menu on Menu Settings.

Copyright © 2017-2020 All rights reserved. | Design & Developed By- SoftMaji