धारा 370 हटाना ऐतिहासिक निर्णय। महराजगंज 11 अगस्त । 5 अगस्त 2019 को देश मे ऐतिहासिक निर्णय धारा 370,व 35 A को हटा कर भारत की संसद ने ,भारत के प्रधानमंत्री ने ,भारत के गृह मंत्री ने देश का मस्तक ऊंचा किया है

ब्यूरो चीफ भानु प्रताप तिवारी की रिपोर्ट

जनपद महराजगंज

धारा 370 हटाना ऐतिहासिक निर्णय। महराजगंज 11 अगस्त । 5 अगस्त 2019 को देश मे ऐतिहासिक निर्णय धारा 370,व 35 A को हटा कर भारत की संसद ने ,भारत के प्रधानमंत्री ने ,भारत के गृह मंत्री ने देश का मस्तक ऊंचा किया है। देश प्रफुल्लित व उत्साहित है । आज प्रधानमंत्री जी को व गृह मंत्री जी को बधाई महराजगंज जनपद की ओर से देने हेतु प्रेस वार्ता की जा रही है। उक्त बातें भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश उपाध्यक्ष व जनपद के प्रभारी दयाशंकर सिंह ने भारतीय जनता पार्टी कार्यालय पर पत्रकारों से बातचीत के दौरान कही। उन्होंने कहाकि भारतीय जनसंघ के संस्थापक अध्यक्ष डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी ने धारा 370 को हटाने के लिए पार्टी का निर्माण किया और 370 के लिए बलिदान दिया। देश के प्रधानमंत्री व गृहमंत्री ने धारा 370 हटाकर देश को गौरवान्वित किया है। श्यामा प्रसाद मुखर्जी जी एक देश मे दो प्रधान,दो निशान, दो विधान नही चाहते थे। उनका मानना था की देश एक है ,जम्मू कश्मीर भारत का अभिन्न अंग है वहां जाने के लिए परमिट की जरूरत है तो ,इसके लिए जब विरोध करने जम्मू गए तो उनकी हत्या हो गई। उन्होंने कहाकि भाजपा ने अपने घोषणापत्र में हमेशा धारा 370 व 35A हटाने की बात की ,आज पूर्ण बहुमत के साथ देश की जनता ने सत्ता सौपी तो हमारी जिम्मेदारी बढ़ गई और इस जिम्मेदारी को 5 अगस्त 2019 को निभाया। उन्होंने कहाकि धारा 370 की आड़ में कश्मीर में अलगाववाद,आतंकवाद फल फूल रहा था। युवाओ को दिग्भ्रमित किया जाता था। रोजगार की जगह बंदूक, शिक्षा की जगह पत्थर, महिलाओ के साथ अत्याचार होता था। धारा 370 को नेहरू जी ने अध्यादेश के जरिये लाये थे । इसको 14 मई 1954 में संविधान के साथ जोड़ा था। देश के लोगो की मांग तभी से थी कि जम्मू से धारा 370 हटाया जाए किन्तु कांग्रेस ने वोट बैंक खिसक न जाये इस काले अध्यादेश को नही हटाया। जम्मू के लोगों को बुनियादी सुविधाओं से वंचित रखा। धारा370 देश के लोगो को जम्मू से अलग करता था,देश का कोई व्यक्ति वहां जमीन नही खरीद सकता था, शादी नही हो सकती थी ,अजीब विडंबना थी देश मे। हमारी सरकार ने इसे हटाकर देश के लोगो को जम्मू से जोड़ने का कार्य किया। उन्होंने कहाकि कुछ परिवार इसकी आड़ में सत्ता का सुख भोगते रहे। योवाओ को रोजगार नही था, विकास से जम्मू कश्मीर का कोई वास्ता नही था, शिक्षा,चिकित्सा आदि के लिए जम्मू कश्मीर तरसता रहा। केंद्र की योजनाएं नही पहुचती थी। आज परिस्थितिया बदली ,हमारे गृह मंत्री ने देश से वादा किया है कि अगले 5 वर्षो में जम्मू कश्मीर को विकासशील राज्यो की कश्रेणी में ले जाएंगे। उन्होंने कहाकि शेख अब्दुल्ला व नेहरू जी की दोस्ती का परिणाम था धारा 370 व 35 A । कांग्रेस ने अंग्रेजो की नीति अपनाई थी फुट डालो और राज् करो। आज कांग्रेस दिशाविहीन हो चुकी है ,उसके ही बड़े नेताओं ने मोदी जी व अमित शाह जी के इस प्रयास की सराहना की है।

Spread The Love :

Related posts

Leave a Comment