कोतवाल लालचंद सरोज ने एक हफ्ते में गौकशी का खुलासा कर सात अभियुक्तो को भेजा जेल ….

 

मोहित मौर्य की रिपोर्ट …

महराजगंज रायबरेली ।
गौकशो के बुलंद हौसलों के पर कतरते हुए कोतवाली पुलिस ने सात अभियुक्तों को एक ही हफ्ते में जेल भेज अपराधियो की कमर तोड़ कर रख दी है । कोतवाल की इस ताबड़तोड़ छापेमारी व गिरफ्तारी से क्षेत्र में पुलिसिंग की जहां चारो ओर सराहना हो रही है, वही कोतवाल की निष्पक्ष कार्यवाही से पुलिस पर सेटिंग गेटिंग का आरोप लगाने वालो के मुंह पर ताले लटक गए है ।
बताते चले की कोतवाली क्षेत्र के गोढ़वा ताल मजरे सिजनी गांव में 20 जुलाई को गौकशी हुई थी जिसमे गौमांस से लदी एक पिकअप कीचड़ में फंसने से वही बरामद हो गयी । मामले में पुलिस पर घटना को दबाने एवं आरोपियों को बचाने के आरोप व कयास लगाए जा रहे थे किन्तु घटना के 24 घण्टे के अंदर ही कोतवाल लालचंद सरोज ने खैरहना गांव के इबरार उर्फ बहरु व पुत्ती की धड़पकड़ कर जेल भेज लोगो में पुलिस के प्रति विश्वास पैदा किया । वही दिन रात छापेमारी कर एक हफ्ते के अंदर ही मो आरिफ, अब्बास व रईस गांव खैरहना, मो मुश्तफा किला बाजार व निसार गल्ला मंडी रायबरेली को गिरफ्तार कर जेल भेजा तथा घटना में एक नही अपितु दो पिकअप सहित एक मोटरसाइकिल को भी बरामद कर घटना का खुलासा किया । मामले में कोतवाल लालचंद सरोज ने बताया की घटना में एक नही दो पिकअप का इस्तेमाल अभियुक्तों द्वारा किया गया । एक तो मौके पर ही बरामद हुई व घटना में शामिल दूसरी पिकअप मुख्य अभियुक्त मो आरिफ की रही । बताते चले की पिकअप का नंबर एफआईआर प्रति में चूक वश गलत दर्ज हो जाने को लेकर लोगो द्वारा पुलिस के प्रति शंका व सवाल उठाए गए किन्तु कोतवाल लालचंद सरोज की ताबड़तोड़ कार्यवाही ने अपराधियो में दहशत व बाल में खाल निकालने वालो को निरुत्तर कर दिया है । पुलिस की इस तत्परता को जहां प्रबुद्ध वर्ग द्वारा सराहा जा रहा है वही गौकशी कारित करने वाले लाव लश्करो की एक मुश्त गिरफ्तारी को भविष्य में हों सकने वाली घटनाओ के विराम के तौर पर देखा जा रहा ।

Spread The Love :

Related posts

Leave a Comment